No icon

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धमकी भरा संदेश भेजने के आरोप में लखनऊ पुलिस ने सोमवार को आगरा से हाईस्कूल के छात्र को पकड़ा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धमकी भरा संदेश भेजने के आरोप में लखनऊ पुलिस ने सोमवार को आगरा से हाईस्कूल के छात्र को पकड़ा। डीसीपी दक्षिण रईस अख्तर ने बताया कि छात्र आगरा का रहने वाला है। उसे बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

डीसीपी ने बताया कि रविवार को यूपी 112 सेवा के व्हाट्सएप नंबर पर संदेश आया, जिसमें मुख्यमंत्री को लेकर आपत्तिजनक बातें लिखी थीं। साथ ही उन्हें धमकी भी दी गई थी। यूपी 112 सेवा से सूचना मिलने पर तत्काल सुशांत गोल्फ सिटी थाने में मोबाइल नंबर धारक अज्ञात के खिलाफ धमकाने व आईटी एक्ट समेत अन्य धाराओं में एफआईआर कराई गई। 

छानबीन में नंबर आगरा का निकला। वहां की पुलिस से संपर्क कर सुशांत गोल्फ सिटी थाने की पुलिस आरोपी तक पहुंची तो पता चला कि वह नाबालिग है और हाईस्कूल का छात्र है। उसने संदेश भेजने के लिए माफी भी मांगी। पुलिस ने मोबाइल फोन और सिमकार्ड बरामद कर लिया है।

पुलिस ने छात्र को पकड़ा तो वह घबरा गया। पहले उसने कहा कि संदेश खेल-खेल में गलती से चला गया। फिर उसने स्कूल-कॉलेज न खुलने और उससे पढ़ाई बाधित होने के विरोध में संदेश भेजने की बात कही। कुछ देर बाद कहा कि पुलिस की सक्रियता जांचने को संदेश भेजा था।

यूपी 112 सेवा के व्हाट्सएप नंबर पर अक्सर धमकी भरे संदेश आते रहते हैं। 21 मई को एक नंबर से संदेश भेजकर मुख्यमंत्री को धमकी दी गई थी। पुलिस ने मुंबई से आरोपी कामरान को पकड़ा था। इसके बाद धमकी भरा संदेश भेजने पर नासिक स्थित मदीना चौक के फैसल को गिरफ्तार किया गया था। वहीं, ऐसा संदेश भेजने पर एक ट्रक चालक को भी जेल भेजा जा चुका है।

Comment As:

Comment (0)