No icon

संता के कारज आप खलोआ हर कम करावन आया राम

संता के कारज आप खलोआ हर कम करावन आया राम


34 वे गुरमत समागम के दूसरे दिन गुरूद्वारा गुरु के ताल पर जहां एक ओर समाज की महान शख्सियत सिंह साहिब ज्ञानी रंजीत सिंह गौहर तख्त श्री पटना साहिब ने संगत के दर्शन किए वही दूसरी और रागी जनों एवं गुणी जनों ने संगत को अपने कथा और कीर्तन से निहाल किया ।


दूसरे दिन की आरंभता हजूरी रागी भाई हरजीत सिंह भाई जनतार सिंह सिंह ने गुरुवाणी का गायन किया उसके पश्चात दरबार साहिब अमृतसर से पधारे हजूरी रागी ने संगत को निहाल किया ।


भाई जसवीर सिंह पाऊँटा साहिब ने महिमा साधू संग की सुनहो

मेरे मीता का गायन करते हुए कहा कि साधू संतों की महिमा का वर्णन नहीं किया जा सकता है उनकी महिमा अपरम्पार है 


सिंह साहिब ज्ञानी रंजीत सिंह जी गौहर तख्त श्री पटना साहिब ने अपने विचार रखते कहा कि इस धरती से नौवें गुरु तेग बहादुर साहिब जी ने अपनी गिरफ्तारी दी 


साबका सिंह साहिब ज्ञानी गुरबचन सिंह श्री अकाल तख्त साहिब जी ने भी अपने विचार संगत के बीच में रखे 


सिंह साहिब ज्ञानी रंजीत सिंह जी गुरूद्वारा बंगला साहिब ने बताया कि इस वर्ष सिक्ख कौम श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के 400 साला प्रकाश पर्व एवं श्री हरगोविंद साहिब जी के 400 साला बंदी छोड़ दिवस के रूप मे मनाया जा रहा है सुबह का दीवान भाई नंद लाल समागम हाल में 10 बजे से 3 बजे तक आयोजित हुआ तथा शाम का दीवान शाम 7 बजे  से रात्रि 12 बजे तक आयोजित किया गया जिसमें कथा और कीर्तन का प्रवाह निरंतर जारी रहा 


लंगर बरताने की सेवा सितार गंज के जत्थेदार पाल सिंह के जत्थे द्वारा की गई 


मौजूदा मुखी संत बाबा प्रीतम सिंह जी ने बताया कि तीसरे दिन का दीवान 3 अक्टूबर को प्रात 10 बजे आयोजित होगा जिसमें ढाढी जत्था विशेष रूप संगत को निहाल करेंगे बाबा जंग सिंह,बाबा नरिंदर सिंह लंगर साहिब, बाबा जसपाल सिंह ,दलजीत सिंह सेतीया, बोबि वालिया,उपिंदर सिंह लवली, बंटी ओबरोय, रमन सहानी , परविंदर सिंह ग्रोवर, राजदीप सिंह, बंटी ग्रोवर, मीडिया प्रभारी मास्टर गुरनाम सिंह  मौजूद रहे

Comment As:

Comment (0)