No icon

नगर-निगम आगरा के सभी संवर्गों के कर्मचारियों की  समस्याओं के निराकरण हेतु एक पटल पर लगेगा कर्मचारी समाधान दरबार, नगरायुक्त ने दी सहमति - विनोद इलाहाबादी।

आज दिनांक:-09 सितंबर, 2022 को "उत्तर प्रदेश स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ" के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष-विनोद इलाहाबादी, वरिष्ठ संरक्षक-हरी बाबू वाल्मीकि, संरक्षक/मंडल प्रवक्ता-चौधरी राकेश राजौरिया एवं महासंघ के मंडल उपाध्यक्ष -सूरज पहलवान ने नगर-निगम के सभी संवर्गों के कर्मचारियों की मूलभूत समस्याओं के निराकरण हेतु मासिक कर्मचारी दरबार लगाने का मांगपत्र नगरायुक्त महोदय-श्री निखिल टीकाराम फुंडे जी! को सौंपा।

नगरायुक्त महोदय ने मांगपत्र को ध्यानपूर्वक पढ़ने के पश्चात कहा कि आपके ध्दारा दिये गये मांगपत्र में इंगित मांगें जायज है और इन समस्याओं का निराकरण कर्मचारी हित में है,अत: दिनांक:-17 सितंबर,2022 ,शनिवार को पहला "कर्मचारी समाधान दरबार" नगर-निगम सदन सभागार में आयोजित किया जायेगा, जिसमें मैं (नगरायुक्त महोदय) स्वयं उपस्थित रहूँगा।

नगरायुक्त महोदय/अपर नगरायुक्त ने कहा कि हम इस समस्या समाधान दरबार को लगातार मासिक या पखवाड़े के रूप रखना चाहते हैं जिससे सभी संवर्गों के कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान हो सके और कर्मचारी संतुष्ट होकर  तन्मयता से अपने कार्यों को अंजाम दे सके, ऐसा हमारा प्रयास रहेगा।

महासंघ के मंडल प्रवक्ता ने कहा कि जब कर्मचारियों की समस्याओं का निराकरण नहीं हो पाता है तो वह हताशा में इधर-उधर भटकता है और अपना कार्य करवाने के लिए साम-दाम-दण्ड-भेद की निति अपनाकर गलत लोगों के चंगुल में फंसकर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देता है। महासंघ के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद इलाहाबादी ने कहा कि महासंघ सदैव नगर-निगम के भ्रष्टाचारियों से सभी संवर्गों के कर्मचारियों को बचाता चला आ रहा है और भविष्य में भी कर्मचारियों को बचाने का कार्य करेगा, इसी के चलते महासंघ ये मांगपत्र दे रहा है, जिससे कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के साथ-साथ उसके हितों की भी रक्षा हो सके। और इसमें शासन की भी यही मंसा रहती है कि जिन कर्मचारियों की समस्याओं का नगर निगम नगर पालिका परिषद नगर पंचायत के मुखिया करा सकते हैं और जब उनकी समस्याओं का समयबद्ध निराकरण नहीं हो पाता है तो कर्मचारी परेशान हो कर या तो शासन को पत्राचार करता है या अदालत की ओर रूख करता इससे सरकार के साथ साथ निकाय की भी छवि धूमिल होती इसके लिए नगर विकास विभाग के सचिवों ने भी शासनादेश जारी कर कहा है कि कर्मचारी प्रतिनिधियों से प्रत्येक पखवाड़े में अथवा मासिक में बैठक करें 

महासंघ ने नगर आयुक्त महोदय से कर्मचारी दरबार लगाने की सहमति पर आभार व्यक्त किया और कहा कि इससे एक नई मिसाल कायम होगी और कर्मचारी को इधर उधर भटकने के बजाय एक छत के नीचे उनकी समस्याओं का समाधान होगा

Comment As:

Comment (0)